मा. विरसा मुंडा

क्रांतिसूर्य जननायक धरती आबा बिरसा मुण्डा जी के जन्मदिवस पर बहुत बहुत हार्दिक बधाई !


बिरसा मुण्डा का जन्म (15 नवम्बर 1875--मृत्यु-9 जून 1900) झारखंड प्रदेश में राँची के उलीहातू गाँव में हुआ था।


उन्नीसवीं शताब्दी के उत्तरार्द्ध में आदिवासी समाज की दशा और दिशा बदलकर नवीन सामाजिक और राजनीतिक युग का सूत्रपात करने वाले महान क्रांतिकारी, जननायक बिरसा मुंडा जी की जयंती पर उन्हें कोटि कोटि नमन।


बिरसा मुण्डा 19वीं सदी के एक प्रमुख आदिवासी जननायक थे। उनके नेतृत्व में मुण्डा आदिवासियों नें 19वीं सदी के आखरी वर्षो में मुणडाओं के महान आन्दोलन "उलगुलान" को अंजाम दिया।


"अबुआ: दिशोम रे अबुआ: राज" अर्थात् "हमारे देश में, हमारा शासन" का नारा देकर भारत वर्ष के छोटा नागपुर क्षेत्र के आदिवासी नेता "बिरसा मुण्डा" ने अंग्रेजों की हुकुमत के सामने कभी घुटने नहीं टेके, सर नहीं झुकाया बल्कि "जल, जंगल और जमीन" के हक के लिए अंग्रेजों के खिलाफ "उलगुलान" अर्थात् "क्रान्ति का आह्वान" किया ।
शत शत नमन बिरसा मुंडा जी को।।।


निवेदक - डॉ पी एस बौध्द ( धम्म प्रचारक )