हिन्दू कोई मानव धर्म नहीं है

🔥हिन्दू कोई मानव धर्म नहीं है 🔥


सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि हिन्दू कोई धर्म नहीं है,
और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी कहा है कि हिन्दू कोई धर्म नहीं है सिर्फ परम्परा है।
👉 हिन्दू हिंसक लोगों की मानसिकता है और विश्व में सबसे क्रूर, जातिवाद, अंधविश्वास और पाखंड की मूर्खता को हिन्दू धर्म नाम दिया गया है।
😭हिंसा और अत्याचार 😫


हिन्दू लोग हिंसक, दुष्ट, चोर, हत्यारे और बलात्कारी होते हैं जिसके आपको करोड़ों सबूत मिल जायेगें।
हिंदू धर्म में कूर और हत्यारे होने के सबूत खुद हिंदुओं के
 👉भगवान् और देवी देवता है जैसे कि राम खुद रावण, राजा बली, और शंबूक रिषी का हत्यारा था। और हाथ में तीर और धनुष हत्यारे होने का सबूत है।
👉 कृष्ण बचपन से चोर और लड़कियों को छेडने वाला था और 16000रानियां रखा था और उस काल के सबसे बीर बर्बरीक को गुमराह करके उसकी हत्या कर दी और कंस की हत्या और एकलव्य का अंगूठा उसी के समय में काटा गया था।
😈बलात्कार 😫
हिंदू धर्म बलात्कारियों और हत्यारों को ही भगवान् और देवी देवता मान कर पूजते हैं।
हिंदू धर्म के अनुसार ही श्रृष्टि रचयिता ब्रह्मा ने ही खुद अपनी बेटियों सावित्री, सरस्वती और गायत्री के साथ बलात्कार किया था। और राम लक्ष्मण ने रावण की बहन शूर्पणखा के साथ बलात्कार किया था और इंद्र ने अहिल्या के साथ बलात्कार किया था और कृष्ण ने अपनी मामी के साथ बलात्कार किया था। इस प्रकार हिंदू धर्म मे हिंसा और बलात्कार के अलावा मानवता के हित में कुछ नहीं है।
👉 विश्व गुरु तथागत गौतम बुद्ध ने सबसे पहले हिन्दू धर्म /ब्राह्मण धर्म का बिरोध किया था और पूरे विश्व में बौद्ध धर्म का प्रचार प्रसार किया जिसके कारण आज 56 देश पूरी तरह से बुद्ध को मानने वाले विकसित देश है।
👉 बाबासाहब डॉ अंबेडकर ने हिन्दू धर्म को लात मार दिया और सभी देश वासियों को बुद्ध धम्म अपनाने का आदेश दिया है क्यों कि जब तक लोग हिन्दू धर्म नहीं छोड़ेंगे ऊंच नीच भेदभाव की जातियों में बंटे रहेंगे और हत्या बलात्कार होता रहेगा।
👉 गुजरात, उत्तर प्रदेश, हरियाणा, मध्य प्रदेश और पूरे देश में प्रतिदिन सैकड़ों लोगों को हत्या  और लड़कियों और महिलाओं के साथ बलात्कार हिंदुओं द्वारा हो रहा है।


देश से जातियाँ, अंधविश्वास और पाखंड को हमेशा के लिए खत्म करने के लिए तथागत गौतम बुद्ध और आधुनिक भारत के निर्माता सिंबल आफ नालेज बाबा साहब डॉ अंबेडकर की मान कर बौद्ध बनो 🎓


ज्यादा से ज्यादा शेयर करो।