क्या देश की यही पहिचान है

😭सह सह के दर्द ज़खमो से चूर  हो जाऊंगी 
😭मुझे क्या पता मैं इतनी मशहूर हो जाऊंगी 
😭जालिमों के जुल्म  का बन जाऊंगी शिकार 
😭मैं जानवरों की हवस का दस्तूर हो जाऊंगी 
😭मुझे क्या पता मैं इतनी मशहूर हो जाऊंगी
😭अम्मी से  मैंने यह एक रोज कहा था 
😭देखना बड़े हो के मैं  हूर हो जाऊंगी 
😭मुझे क्या पता मैं इतनी मशहूर हो जाऊंगी 
😭अम्मी तेरी आंखों का नूर छिन गया
😭 उम्मीद नहीं थी इतनी तुमसे दूर हो जाऊंगी 
😭मुझे क्या पता मैं  इतनी मशहूर हो जाऊंगी 
😭यह तो सोचा था अब्बू मेरी डोली सजाएंगे 
😭अब उन्हीं के हाथों दाखिले कबूर हो जाऊंगी 
😭मुझे क्या पता मैं इतनी मशहूर हो जाऊंगी
😭एक बार मुझे आकर आगोश में लो अब्बू
😭वादा करती हूं फिर कभी बाहर नहीं जाऊंगी
😭मुझे क्या पता मैं इतनी मशहूर हो जाऊंगी
😭ऐ वक्त के हाकिम मुझे इंसाफ दो वरना
😭कहरे खुदा का फर्श पर ज़हूर हो जाऊंगी 
😭मुझे क्या पता मैं इतनी मशहूर हो जाऊंगी


अभी अशिफ़ा की आवाज़ को लोग भूले भी नहीं है कि ना जाने कितने अशिफ़ा को मौत की नींद सुला दिया गया


#Justice_for_Nirbhaya
#Justice_for_Soumya
#Justice_for_Jisha
#Justice_for_Asifa
#Justice_for_Divya
#Justice_for_Mishel
#Justice_for_Madhu
#Justice_for_WalayarSisters
#Justice_for_PriyankaReddy
#Justice_for_Zikra
#Justice_for_______________________?