Rajasthan चूरू/बीदासर. गांव घंटियाल में दिल दहलाने वाला सामने आया है, यहां पर एक विवाहिता को बंधक बनाकर पति, ससुर, देवर आठ दिन बंधक बनाकर गर्म लोहे के सरिए से गुप्तांग को दागते रहे।

चूरू/बीदासर. गांव घंटियाल में दिल दहलाने वाला सामने आया है, यहां पर एक विवाहिता को बंधक बनाकर पति, ससुर, देवर आठ दिन बंधक बनाकर गर्म लोहे के सरिए से गुप्तांग को दागते रहे। पीठ पर डाम भी लगा दी, इतना ही नहीं जान से मारने की नीयत से जलाने का भी प्रयास किया गया है। पीडि़ता की बेटी को मारने की धमकी देकर झौपड़े में बंधक बनाए रखा। पीडि़ता की ओर से बीदासर थाने पहुंचकर मामला दर्ज कराया। मामले की जानकारी लगने पर पुलिसकर्मियों में हड़कम्प मच गया। पीडि़ता मोहनीदेवी नाथ ने बताया कि दो साल पहले उसकी शादी गांव घंटियाल निवासी मुनिनाथ के साथ हुई थी। इस दौरान उसके पति के किसी अन्य महिला से संपर्क हो गए। ऐसे में कुछ दिनों से जबरन तलाक देने के लिए कहा रहा था।लेकिन उसने इसके लिए मना कर दिया। इसके बाद पति मुनिनाथ, देवर महेन्द्रनाथ व लिच्छुनाथ, ससुर भंवरनाथ ने यातनाएं देना शुरू कर दिया।पीडि़ता ने बताया कि पिछले एक माह से उसके साथ सभी मारपीट कर रहे थे।आठ दिन तक गर्म सरिए से दागते रहे २० फरवरी को पांचों आरोपियों ने उसे ढाणी में बंधक बना लिया।झौपड़े में उसे बंधक बना लिया, यहां पर जला कर मारने की कोशिश की। लगातार आठ दिनों तक सरिए को गर्म कर गुप्तांग व दागों में दागकर यातनाएं भी दी गई। पीडि़ता ने बताया कि आरोपियों ने उसकी पीठ पर डाम भी लगाई। आरोपियों से हाथ जोड़कर छोडऩे की गुहार करने पर मारपीट की गई। इस बारे में किसी और को बताने पर आठ माह की दुधमुंही बेटी को जान से मारने के लिए धमकाया गया। बंधक बनाए जाने के दौरान उसे भूखा रखा गया।गुप्तांग व जांघों गर्म सरिए के कारण घाव हो गए, पीडि़ता को तड़पता देखते रहे।दादा को मारपीट कर भगायापीडि़ता ने बताया कि 28 फरवरी के दिन दादा उससे मिलने के लिए पहुंचे तो पांचों आरोपियों ने मिलाने से इंकार कर दिया। दादा के पौती से मिलने के लिए दबाव बनाने पर उसके साथ में भी मारपीट कर घर से भगा दिया।बाद में दादा समाज के कुछ लोगों को लेकर पहुंचा। इसपर ससुराल पक्ष के लोग उसे भेजने को राजी हुई।झौपड़े से बाहर निकलने पर शरीर पर दागने के निशान देखकर पीहर पक्ष के लोग हैरान हो गए। इस बारे में विरोध जताने पर ससुराल पक्ष के लोग मारपीट के लिए उतारू हो गए।