बुधिया नाम याद आया आपको... ? नहीं ना.....?

बुधिया नाम याद आया आपको... ?
नहीं ना...
हमारा देश बहुत जल्दी किसी को भी भूलने में माहिर है...
क्योंकि इस देश के लोगों को भूलने की आदत जो हैं...
जिस बालक ने किसी समय 5 वर्ष की उम्र मे 55 किलोमीटर के दौड़ मे कीर्तिमान स्थापित किया था और दुनिया मे छा गया था...
आज गुमनामी के अंधेरे में गुम है...
जो बालक भविष्य में ओलम्पिक पदक दिला सकता था, आज वो सरकारी होस्टल में कुपोषण का शिकार है...
उसके कोच बेरंची दास की भी हत्या कर दी गयी हैं और इस होनहार बालक को गुमनामी के अंधेरे मे धकेल दिया गया हैं...
आखिर मीडिया ऐसी खबर क्यों नहीं दिखाती हैं...


आप सभी से मेरी गुज़ारिश है प्लीज़ इसे ज्यादा से ज्यादा शेयर करे ताकि इस बालक को गुमनामी के अंधेरे से निकालने मे मदद मिले...
जरा सोचना कि आपकी एक छोटी सी कोशिश बहुत बड़ा काम कर सकती हैं...