शीर्षक :- आज की सच्चाई

शीर्षक :- आज की सच्चाई
चित्रकार :- रणविजय (प्रवक्ता- कला)  द्वारा
अंतरराष्ट्रीय कला दिवस के अवसर पर संसार के समस्त  कलाकारों एवं कला प्रेमियों को बहुत-बहुत हार्दिक बधाई एवं मंगलकामनाएं
चार पंक्तियाँ-
दुनिया का  विकसित मानव, एक नजर इन पर भी डाले🙏
महामारी के पहले  भूख से,   मानवता  शर्मसार  न होले🙏
ऐसा वक़्त आने से पहले, इन्हें सौंप दो भर पेट   निवाले🙏
कागज पर रंगों से वेदना,आज विजय ने मन से  निकाले🙏