कोरोना वायरस के कारण घरों में लॉकडाउन जरूरतमंद लोगों को पहले चरन मे बुद्धभूमि महाविहार से 2000 परिवारों को मदत करने वाले श्रदेय दानदाताओं की लिस्ट*

🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏
*कोरोना वायरस के कारण घरों में लॉकडाउन जरूरतमंद लोगों को पहले चरन मे बुद्धभूमि महाविहार से 2000 परिवारों को मदत करने वाले श्रदेय दानदाताओं की लिस्ट* .....
🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏
*1.पुज्य भन्ते शाक्यापुञ सागर, भोपाल-7000/-रू*.
*2.मा.व्ही.के.बाथम,पूर्व IAS,मप्र शासन-300किलो आटा*
*3.मा.रमेश थेटे, IAS,सचिव- मप्र शासन, -25000/-रू*.
*4.इंजी.चैतन्य संकुले, इंजीनियर-इन-चीफ,पीएचई-मप्र,-25000/-रू*
*5.इंजी.आर.के.मेहरा, इंजीनियर-इन-चीफ,पीडब्ल्यूडी,मप्र.-10,000/-रू*
*5.डॉ साहेबराव सदावर्ते,भोपाल-200किलो चावल*
*7.आयु.चद्रंप्रकाश गोलाईत,भोपाल- 11,000/-रू*.
*8.आयु.रामप्रसाद सिलोरीया,भोपाल-5,000*
*9.आयु.चंद्रभान वासनिक, भोपाल -5,000/-रू*.
*10.आयु. संजय गजभिए, भोपाल -7,000/-रू*.
*11.आयु.पी.जी. पूसे, भोपाल -3000/*-रू
*13.आयुष्यमती वंदना मुलताईकर,भोपाल-2500*
*13.आयुष्यमती शोभा चहांदे, भोपाल-2500/-रू*
*14.आयुष्यमती स्वाति आशा, भोपाल-2500/-रू*
*15.आयु.रामेश्वर गजभिए,भोपाल-2000/*
*16.आयु.चरणदास बोधांटे,भोपाल-1000/-रू*
*17.आयु.संतोष शिरसाट,भोपाल-100किलो आटा/*
*18.आयु.हरीमनि चौधरी,भोपाल-50किलो आटा /*
*19.आयुष्यमती पंचशीला गनवीर,भोपाल-1000/-रू* 
*20.कुमार दिनेश जिंदोलिया,भोपाल-1000/*
*21आयुष्य.अस्मिता गायकवाड,भोपाल-2000*
*22.आयुष्य.सत्यशीला दूधमल,भोपाल-2000/-रू*
*23.आयु.राहुल सिंघाड़े,भोपाल-1000/-रू* 
*24.आयुष्यमती साधना भारतीय,भोपाल-1000रू*
*25.आयु.सुनिल बारमाटे,भोपाल-500/-रू* 
*26.आयु.राजीव सिंह दोहरे,भोपाल-500/-रू* 
*27.इंजी.पुण्यशील बागडे,भोपाल-2100/-रू* 
*28.आयु.नरेश बागडे,भोपाल-2500/-रू* 
*29.आयु.टी.डी.मेश्राम भोपाल-3000/-रू* 
*30.आयु.सुरेश बागडे,भोपाल- 100किलो आटा/*
*31.कल्पना सुनील चन्द्रिकापुरे,भोपाल-40कि.आटा*
*32.आयुष्यमती अनिता अहिरवार,भोपाल-1000रू*
*33.आयु.संजय गुप्ता,भोपाल-500/-रू*
*34.आयुष्यमती शेफाली भोपाल-1000/-रू*
*35.आयुष्यमती रीता बनवाल,भोपाल-1100 /-रू*
*36.आयुष्यमती शिखा केशरी,भोपाल-500/-रू* 
*37.बालिका विशाखा नारायणी- भोपाल*
( *छोटी सी बालिका ने अपना गुल्लक दान किया*)
*38.अजय गायकवाड, भोपाल-500/-रू* 
*39.आयुष्यमती प्रेनिता श्रीवास्तव,भोपाल-500/*
*40.आयु.सुरेश डोंगरे,भोपाल-2000/-रू*
*41.आयु.मोतीलाल अहिरवार,भोपाल-100किलोआटा*
*42.आयु.एल एल अहिरवार,भोपाल-1500 /*
*43.आयु.राजकुमार शाक्य, गुना,1000 /-रू*
*44.वास्तुविद्द आयु.धिरज बोरकर,नागपुर-5000 /*
*45.आयु.ललेंद्र हुमने, भोपाल-1000/-रू*
*46.आयु.कैलाश वले, भोपाल-1000/-रू*
*47.आयु.खुशाल सोमकुवर,भोपाल-2500/*
*48.आयु.विजय गजभिये, भोपाल-2000/रू*
*49.आयु.संदिप वकोडे, भोपाल-2100/-रू*
*50.आयुष्यमती सीमा रामोशी,भोपाल-500/-रू*
*51.आयु.उमेश भीमटे, भोपाल-1000/-रू*
*52.आयु.दिवाकर गजभिये,भोपाल-1000/*
*53.आयु.एस.एस.निम्बाडकर,भोपाल-2000/-रू*
*54.आयु.बोरकर जी,रोहित नगर भोपाल-2000/-रू*
*55.आयुष्यमती अनुसया चव्हाण,100किलोआटा*
*56.कुमार अदवित बोंधाटे,इंदौर-500/-रू*
*57.आयु.धनंजय बावसकर-भोपाल-500/*
*58.आयुष्यमती नागदवने ताई,भोपाल-1000/-रू*
*59.आयुष्यमती रजनी नगरारे,भोपाल-2000/-रू*
*60.आयु.दुर्गादास गोंडाने,भोपाल-5000/-रू*
*61.आयु.नन्दकिशोर गेडाम,भोपाल 100किलो आटा/*
*62.आयु.अशोक बेले,भोपाल        :आटा/*
*63.आयु.सतीश बागेश्वर,भोपाल    :आटा/*
*64.आयु.राकेश अहिरवार,भोपाल :-100किलो आटा/*
*65.आयु.बसंत मारवी, भोपाल       :आटा/*
*66.आयु.धनंजय जाम्बुलकर,भोपाल-2000/-रू*
*65.आयु.अश्विन बन्सोड,भोपाल-1000/-रू*
*66.आयुष.वैशाली गुडडू मानवर,भोपाल-2100/-रू*
*67.आयु.पुरुषोत्तम ढोके,अकोला(MS)-1000*
*68.आयु.देवीदास गजभिये,भोपाल-1000/रु*
*69.आयुष्यमती रेखा मेश्राम,भोपाल-1000/रु*
*70.आयु.देवेंद्र गोलाईत,100किलो आटा/-2100/रु*
*71.आयु.अविनाश कड़वे,भोपाल 50किलो आटा/*
*72.आयु.रमेश भगत,भोपाल 50किलो चावल/*
*73.आयु.भारत संध्यान,भोपाल-3000/रु*
*74.आयुष्यमती प्रभा शेंडे,भोपाल-2000/रु*
*75.आयु.संतोश वाकेकर,भोपाल-1000/रु*
🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏
*दूसरे चरन मे 1500 परिवारों को मदत करने की सहयोगी श्रद्धेय दानदाताओं की लिस्ट*....
*76.मा.व्ही.के.बाथम,पूर्व IAS,मप्र शासन-भोपाल -11000/*-
*77.इंजी.चैतन्य संकुले,ENC,पीएचई मप्र शासन- भोपाल-50,000/-रू*
*78.इंजी.जी.पी.मेहरा,CGM,एमपी रोड विकास प्राधिकरण मप्र.भोपाल -10,000/-रू*.
*79.मा.विधायक विश्वास सारंग,पूर्वमंत्री, मप्र शासन- चावल-125Kg*
*80.आयु.रवि बोरकर,रियल एस्टेट निवेश सलाहकार - दुबई- 10,000/-रु*
*81.आयु.वीरेंद्र डोंगरे,DGM,भेल-भोपाल 2000/-रु*
*82.आयुष्यमती बेबी वामन दुपारे,भोपाल-2000/-रु*
*83.आयुष्यमती स्वाती दुधमल-मुबंई-2000/-रु*
*84.आयुष्यमती रतना विनोद डोईफोडे-नागपुर-5000*
*85.आयु.गौतम शंम्बाजी इंगोले-भोपाल- 2000/-रु*
*86.आयुष्यमती नंदा इंगोले भोपाल- 1000/-रु*
*87.आयु.ज्ञानेश्वर पाटिल-भोपाल- 2000/-रु*
*88.आयु.चरनदास बोधांटे-भोपाल- चावल 50Kg*
*89.आयुष्यमती साधना भारतीय भोपाल- 2000/-रु*
*90.आयुष्यमती आकांक्षा बोधांटे-इन्दौर- 500/-रु*
*91..आयु.धनंजय जाबुलकर भोपाल- 1500/-रु*
🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏
*बुद्धभूमि महाविहार में बुद्ध जयंती के पावन दिन 500 जरूरतमंद परिवारों को राशन वितरण की तैयारियां*
🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏


Popular posts
अमीर दलित दामाद रिश्तेदार और गरीब दलित नक्सली अछूत क्या गजब की पॉलिटिक्स है आज मै दोगली राजनीति से वाकिफ करवाता हूँ 
Image
गर्व से कहो हम शूद्र हैं
देश के अन्दर क्या परम्परा चल रही है जाने
Image
धर्मिक स्त्रियां धर्म के इन आदेशो को कितना सही मानती हैं ? आज भी समाज में विधवा स्त्री का बहुत ज्यादा सम्मान नहीं होता है ,अधिकतर विधवा स्त्री को अपशकुन ही समझा जाता है ।आप वृन्दावन सहित देश के बहुत से हिस्सों में विधवाओ के लिए बने आश्रमो में देख सकते हैं की उनकी क्या दुर्दशा होती है । इस बार वृंदावन में विधवाओ ने सैकड़ो साल की कुरीति तोड़ते हुए होली मनाई । अंग्रेजो के आने से पहले सती प्रथा समाज में कितनी प्रचलित थी यह बताने की जरुरत नहीं है , समाज में विधवा स्त्रियों को जला के उन्हें देवी मान लिया जाता था । समाज में विधवाओ के प्रति यह क्रूरता आई कैसे ?कौन था विधवाओं की दुर्दशा का जिम्मेदार ?जानते हैं - महाभारत के आदिपर्व में उल्लेख है की जिस प्रकार धरती पर पड़े हुए मांस के टुकड़े पर पक्षी टूट पड़ते है , उसी प्रकार पतिहीन स्त्री पर पुरुष टूट पड़ते हैं । स्कन्द पुराण के काशी खंड के चौथे अध्याय में कहा गया है "विधवा द्वारा अपने बालो को संवार कर बाँधने पर पति बंधन में पड़ जाता है अत:विधवा को अपना सर मुंडित रखना चाहिए। उसे दिन में एक बार ही खाना चाहिए वह भी काँसे के पात्र में , या मास भर उपवास रखना चाहिए । जो स्त्री पलंग पर सोती है वह अपने पति को नर्क डालती है , विधवा को अपना शरीर सुगंध लेप साफ़ नही करना चाहिये और न ही श्रंगार करना चाहिए । उसे मरते समय भी बैलगाड़ी पर नहीं बैठना चाहिए , उसे कोई भी आभूषण तथा कंचुकी नहीं पहननी चाहिए कुश चटाई पर सोना चाहिए और सदैव श्वेत वस्त्र पहनने चाहिए ।उसे वैशाख , कार्तिक और माघ मास में विशेष व्रत रखने चाहिए । उसे किसी शुभ कार्य में हिस्सा नहीं लेना चाहिए और हमेशा हरी का नाम जपना चाहिए । विधवा का आशीर्वाद विद्वजन ग्रहण नहीं करते मानो वह कोई सर्प विष हो । विधवाओं के प्रति यह आदेश धर्म का है , आज भी स्त्रियां ही सबसे अधिक धर्मिक प्रवृति की होती हैं ...यदि स्त्रियां धर्म का साथ छोड़ दें तो धर्म नाम की दुकान एक दिन में बंद हो जायेगी । तो आज की धर्मिक स्त्रियां, विधवाओं के प्रति धर्म के इन आदेशो को कितना सही मानती हैं ? - केशव (सजंय)..
Image
"ट्रेन की जंजीर" एक वृद्ध ट्रेन में सफर कर रहा था, संयोग से वह कोच खाली था। तभी 8-10 लड़के उस कोच में आये और बैठ कर मस्ती करने लगे। एक ने कहा, "चलो, जंजीर खीचते है". दूसरे ने कहा, "यहां लिखा है 500 रु जुर्माना ओर 6 माह की कैद." तीसरे ने कहा, "इतने लोग है चंदा कर के 500 रु जमा कर देंगे." चन्दा इकट्ठा किया गया तो 500 की जगह 1200 रु जमा हो गए. चंदा पहले लड़के के जेब मे रख दिया गया. तीसरे ने बोला, "जंजीर खीचते है, अगर कोई पूछता है, तो कह देंगे बूढ़े ने खीचा है। पैसे भी नही देने पड़ेंगे तब।" बूढ़े ने हाथ जोड़ के कहा, "बच्चो, मैने तुम्हारा क्या बिगाड़ा है, मुझे क्यो फंसा रहे हो?" लेकिन किसी को दया नही आई। जंजीर खीची गई। टी टी ई आया सिपाही के साथ, लड़कों ने एक स्वर से कहा, "बूढे ने जंजीर खीची है।" टी टी बूढ़े से बोला, "शर्म नही आती इस उम्र में ऐसी हरकत करते हुए?" बूढ़े ने हाथ जोड़ कर कहा, "साहब" मैंने जंजीर खींची है, लेकिन मेरी बहुत मजबूरी थी।" उसने पूछा, "क्या मजबूरी थी?" बूढ़े ने कहा, "मेरे पास केवल 1200 रु थे, जिसे इन लड़को ने छीन लिए और इस लड़के ने अपनी जेब मे रखे है।" अब टीटी ने सिपाही से कहा, "इसकी तलाशी लो". लड़के के जेब से 1200रु बरामद हुए. जिनको वृद्ध को वापस कर दिया गया और लड़कों को अगले स्टेशन में पुलिस के हवाले कर दिया गया। ले जाते समय लड़के ने वृद्ध की ओर देखा, वृद्ध ने सफेद दाढ़ी में हाथ फेरते हुए कहा ... "बेटा, ये बाल यूँ ही सफेद नही हुए है!" 😁😁😁😁😁😁 अंतर्राष्ट्रीय वरिष्ठ नागरिक दिवस की बधाई 🙏
Image