तीन महीने कि नन्ही बच्ची को लेकर #हैदराबाद से पैदल चली महिला 10 वे दिन #नागपुर पहुंची। चल चल कर पैरों में पडे छाले।

तीन महीने कि नन्ही बच्ची को लेकर #हैदराबाद से पैदल चली महिला 10 वे दिन #नागपुर पहुंची। चल चल कर पैरों में पडे छाले।
#तेलंगाना से #नागपुर पहुंचे इन मजदूरों के समूह ने किसी को #यूपी के #कन्नौज जाना है तो किसी को #मध्य प्रदेश के #बालाघाट पहुंचना है।
सरकार ने आँखों पर पट्टी क्यों बाँध रखी है ?
सरकार को ऐसे #गरीबों के दर्द तथा पैरो के छाले क्यो नही दिखाई देते ?
इन गरीबों के लिए क्यों नहीं कुछ कर सकते ?
आमीर जरा सी आवाज़ उठाये तो हवाई जहाज और एसी बसे लेने पहुंच जाती हैं।
हमें भी पार्टी बाजी से ऊपर उठकर सोचना होगा इन परिवारों का क्या हाल हो रहा है।